मां जुए की लत की शिकार,पिता के मौत का नहीं था गम,प्यार ने दमन तोड़ लिया ,जाने दिग्गज अदाकारा रेखा की कहानी

Rekha love and breakup story :बॉलीवुड की अदाकारा रेखा किसी पहचान की मोहताज नहीं है।इन्होंने अभिनय की दुनिया में लंबे समय तक राज किया लेकिन शायद उनकी निजी जिंदगी से आप शायद आप अच्छे से वाकिफ नहीं होंगे तो चलिए जानते हैं, उनकी जिंदगी से जुड़े कुछ खास बातें

Rekha love and breakup story : हिंदी की दिग्गज अदाकारा रेखा की जब पहली फिल्म बड़े पर्दे पर रिलीज हुई तो किसी ने कल्पना भी नहीं की थी कि ये बेहद आम सी दिखने वाली अदाकारा एक दिन हिंदी सिनेमा की सबसे बड़ी हीरोइन के रूप में सामने आएंगी। समय के साथ उन्होंने अपने शानदार अभिनय और हुस्न के जरिए दर्शकों के बीच एक खास पहचान बनाई। अदाकारा को फिल्मों के जरिए जितनी शोहरत मिली असर जिंदगी में उन्हें काफी दर्द से भी गुजरना पड़ा।

निजी जिंदगी को लेकर सुर्खियों में रहती थी अदाकारा

रेखा अपने दौर की एक बेहद कामयाब अदाकारा थी। वहीं उनकी लव स्टोरी और शादी को लेकर काफी चर्चा हुए थे। उन्होंने बिजनेसमैन मुकेश अग्रवाल से शादी रचाई थी।उनके आकस्मिक मौत के बाद उन्होंने दोबारा से शादी नहीं की लेकिन उनके अफेयर के किस्से अक्सर बॉलीवुड की गलियों में सुनने को मिलते थे।अदाकारा के मांग में सिंदूर से लेकर अमिताभ के साथ अफेयर के चर्चे कभी खूब हुआ करते थे।इन्होंने विनोद मेहरा से उनकी गुपचुप रचाई थी।इसे लेकर भी अदाकारा उस दौर में काफी सुर्खियों में थी।

अभिनेत्री रेखा पर आधारित किताब ‘रेखा- द अनटोल्ड स्टोरी’ की माने तो रेखा ने विनोद मेहरा के साथ बेहद गुपचुप शादी रचाई थी लेकिन वही जब वो विनोद मेहरा के घर बहू बन कर पहुंची तो उनकी मां ने उनके रिश्ते को स्वीकार नहीं किया। वो अभिनेता से इस कदर नाराज थी कि वो रेखा को देखते ही चप्पल लेकर उनकी और दौड़ पड़ी थी।ऐसे में रेखा ने कुछ दिनों बाद विनोद से रिश्ता तोड़ लिया।

रेखा का नाम बॉलीवुड की एक बेहद टैलेंटेड अदाकारा के रूप में लिया जाता है लेकिन उनकी जिंदगी काफी उथल-पुथल से भरी थी। सुनने में आता है कि रेखा ने बचपन से ही प्यार के नाम पर काफी तकलीफे झेली है।एक दौर था जब रेखा की मां को जुए की तगड़ी लत लगी थी जिसके चलते परिवार बर्बादी के कगार पर आ गया था ।वही उनके पिता जेमिनी गणेशन से भी उनका रिश्ता बिलकुल ऐसी अच्छा नहीं रहा।

ई टाइम्स की रिपोर्ट की माने तो रेखा का कहना था कि वो उनके निधन पर गम क्यों करें, जबकि उनका उनसे दूर-दूर तक कोई लेना-देना नहीं है। उनकी जिंदगी में उनका जरा भी योगदान नहीं है। उन्हें इस बात की बल्कि खुशी है कि उन्होंने अपने जीवन में उनके साथ कभी कोई बुरे पल साझा नहीं किया। वो उनके महज कल्पनाओं में मौजूद थे।

Leave a Comment